‘आंगन’ में बच्चों को अंडा…सड़क पर विरोध के स्वर

इंदौर। मध्य प्रदेश की सरकार द्वारा मध्यान्ह भोजन में बच्चों को अंडा परोसने का मामला अब और गर्मा रहा है। इंदौर शहर में मंगलवार को अभिभावकों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए ज्ञापन सौंपा है। जानकारी के अनुसार समग्र शाकाहार जैन समाज के साथ 50 संगठनों ने संभागायुक्त को ज्ञापन सौंपकर अंडा वितरण नहीं किए जाने की मांग की।

आखिर क्यों है हंगामा-

उल्लेखनीय है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार ने गरीब बच्चों को कुपोषित होने से बचाने और उन्हें मजबूत बनाने के उद्देश्य से आंगनबाड़ियों में अंडा वितरित करने की योजना बनाई है, जिसे जल्द ही लागू किए जाने की भी योजना है। सरकार के इस फैसले का राजनीतिक विरोध तो पहले से ही हो रहा है। अब इसका सामाजिक विरोध भी शुरू हो गया है।

विरोध में ये हैं तर्क-

वहीं विरोध कर रहे समग्र शाकाहार जैन समाज के पदाधिकारियों का कहना है कि हमने ज्ञापन के माध्यम से मांग की है कि मप्र में आंगनबाड़ियों में अंडा वितरित नहीं किया जाए। यह देश की संस्कृति से हटकर है और इससे बच्चों में बचपन से ही मांसहारी प्रवृत्ति पैदा होगी, जो समाज और पर्यावरण के लिए उचित नहीं है।