Indore News / मध्य प्रदेश…एक्सप्रेस हाइ-वे निर्माण की फाइलें तेजी से दौड़ेंगी

मध्य प्रदेश...एक्सप्रेस हाइ-वे निर्माण की फाइलें तेजी से दौड़ेंगी

इंदौर। मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार द्वारा देशभर को जोड़ने वाले एक्सप्रेस हाई-वे के निर्माणों को लेकर प्रदेश में कार्य तेजी से करने पर जोर दिया जा रहा है। इसी दिशा में कोटा से हैदराबाद के बीच बनने वाले 1300 किमी लंबे कॉरिडोर की कागजी कार्रवाई तेज हो गई है। जल्द ही जमीन अधिग्रहण कर अवॉर्ड पारित कर भूस्वामियों को मुआवजा देने की प्रक्रिया भी शुरू होगी।

दिल्ली में होगी बैठक-

वन विभाग से एनओसी सहित अन्य समस्याओं को लेकर दिल्ली में 23 व 24 जनवरी को मप्र के नेशनल हाइवे के अफसरों की महत्वपूर्ण बैठक होगी। इसमें अफसर प्रजेंटेशन के माध्यम से मौजूदा स्थिति बताएंगे।

ग्रीन हाई-वे बनाएंगे-

आईएमए (IMA) के कार्यक्रम में गत दिवस शामिल होने आए केंद्रीय सड़क व परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने कहा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस हाइवे से झाबुआ-रतलाम जिले जुड़ेंगे। 12 लेन के इस रोड के लिए 90 प्रतिशत जमीन का अधिग्रहण किया जा चुका है। उज्जैन से कोटा के बीच ग्रीन हाइवे बनाया जाएगा। उन्होंने बताया सागरमाला प्रोजेक्ट के तहत इंंदौर-मनमाड़ लाइन भी तैयार की जा रही है।

इन हाइवे की प्रक्रिया तेज-

इंदौर-इच्छापुर हाइवे पर लगातार हो रहे हादसे को रोकने के लिए अफसरों ने यह तय किया है कि 2021 में कोटा-हैदराबाद (इंदौर-इच्छापुर-अकोला) फोरलेन का काम शुरू हो जाए। यानी 2020 में ही जमीन अधिग्रहण, वन विभाग की एनओसी जैसे काम निपट जाएं ताकि भूस्वामियों को मुआवजा राशि मिल सकें। इसके बाद फोरलेन के टेंडर लग जाएंगे।