Jabalpur News / जबलपुर को पर्यटन हब बनाने हम संकल्पित – मंत्री भनोत

जबलपुर-को-पर्यटन-हब-बनाने-हम-संकल्पित-मंत्री-भनोत

जबलपुर। जबलपुर एवं महाकौशल अंचल को प्रमुख पहचान दिलाने की सरकार की प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए कहा कि इस दिशा में तेजी से प्रयास हो रहे हैं और खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ इसमें विशेष रूचि ले रहे हैं। यह बात प्रदेश के वित्तमंत्री तरुण भनोत ने वित्त मंत्री तरूण भनोत ने गत दिवस मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम और भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा होटल कलचुरी में आयोजित एमपी टूरिज्म इन्वेस्टर्स मीट के उद्घाटन सत्र के दौरान कही।

ये रहे शामिल-

राज्य के पर्यटन के क्षेत्र को आदर्श निवेश के रूप में स्थापित करने के उद्देश्य से आयोजित इस इन्वेस्टर्स मीट में पर्यटन क्षेत्र से संबंधित निवेशक, होटल संचालक, रियल एस्टेट प्लेयर्स, वाटर टूरिज्म, एडवेंचर टूरिज्म एवं एम्युजमेंट कंपनियों के प्रतिनिधि आर्किटेक्ट, इंजीनियर एवं स्थानीय उद्योगपति शामिल थे।

सभी के लिए फायदेमंद योजना बना रहे-

वित्त मंत्री ने कहा कि जबलपुर और इसके आसपास प्रदेश सरकार पर्यटन की दृष्टि से संपूर्ण विकास चाहती है और ऐसा मॉडल अपनाना चाहती है जो यहां की जनता, युवाओं, उद्योगपतियों और निवेशकों के लिए भी फायदे मंद हो । उन्होंने जबलपुर के प्राकृतिक सौंदर्य, यहां की आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक धरोहर का उल्लेख करते हुए कहा कि पर्यटन की दृष्टि से इस अंचल में विकास की अपार संभावनाएं हैं । इसके आसपास कान्हा, पेंच, बांधवगढ़ और हाल ही में जुड़े नौरादेही अभ्यारण्य सहित भेड़ाघाट, खजुराहो जैसे पर्यटन स्थल भी मौजूद हैं ।

निजी निवेशकों की सहभागिता जरूरी-

श्री भनोत ने कहा कि सरकार चाहती है कि इन सभी पर्यटन स्थलों को मिलाकर एक टूरिस्ट सर्किट बनाया जाये और जबलपुर इसका हब बने। इस दिशा में सरकार तेजी से काम भी कर रही है। लेकिन सरकार इसमें निजी निवेशकों की सहभागिता भी चाहती है।

जो अच्छा होगा, वही पॉलिसी-

श्री भनोत ने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हमारी कोई तय पॉलिसी नहीं है। प्रदेश के हित में, सरकार के हित में और जनता के हित में जो अच्छा होगा हमारी वही पॉलिसी होगी। उन्होंने निवेशकों से कहा कि यह सरकार सभी की है, आप भी इस सरकार का हिस्सा हैं आप जो भी बात रखना चाहते हैं खुलकर अपनी बात रखें सरकार उनपर गौर करेगी और आपकी योजना के मुताबिक सभी सहूलियत भी मुहैया करायेगी।

सहुलियतें देगी सरकार-

श्री भनोत ने इस मौके पर डुमना एयरपोर्ट के विस्तार से लेकर हवाई सुविधाओं के विकास के लिए सरकार द्वारा उठाये गये कदमों का उल्लेख भी किया । उन्होंने कहा कि यदि एविएशन कंपनियां जबलपुर, भेड़ाघाट, कान्हा, पेंच, बांधवगढ़, खजुराहो और नौरादेही अभ्यारण्य में हेलीकाप्टर या छोटे विमान की सेवा शुरू करना चाहती है तो सरकार उन्हें सब्सिडी देने को भी तैयार है ।

श्री भनोत ने अपने संबोधन में टूरिज्म को बढ़ावा देने डुमना नेचर पार्क में टाइगर सफारी, भेड़ाघाट के नर्मदा उत्सव को राष्ट्रीय स्वरूप प्रदान करने, नर्मदा कुंभ का आयोजन, नर्मदा रिव्हर फ्रंट का निर्माण, बरगी में वाटर स्पोर्टस, बरगी में ही वृदांवन गार्डन की तर्ज पर उद्यान विकसित करने जैसे सरकार द्वारा उठाये जा रहे कदमों की जानकारी भी दी । उन्होंने कहा कि एक समय जबलपुर की पहचान यहां स्थित तालाबों से होती थी। इस सरकार ने सूपाताल, संग्राम सागर एवं गोकलपुर तालाब के सौंदर्यीकरण और विकास की योजनायें भी तैयार की है।

भूमि आवंटन हमारी प्राथमिकता- Read More
इन्वेस्टर्स मीट के उद्घाटन सत्र को कलेक्टर भरत यादव ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि टूरिज्म के क्षेत्र में जबलपुर आने वाले निवेशकों को प्रशासन भूमि आबंटन से लेकर हर सुविधायें उपलब्ध कराने तत्पर रहेगा। उन्होंने कहा कि पर्यटन के क्षेत्र में भोपाल, इंदौर, ग्वालियर से पिछड़ने की टीस जबलपुरवासियों के दिल में है इसे दूर करने प्रशासन कोई कसर बाकी नहीं रखेगा। श्री यादव ने इस अवसर पर लम्हेटाघाट में अर्थ म्यूजियम की स्थापना के लिए चल रहे प्रयासों का जिक्र भी किया। उन्होंने कहा कि इस दिशा में काफी प्रगति हो चुकी है।देखें वीडियो – वन चौकी से बकरी ले गया तेंदुआ
कार में 14 किलो 700 ग्राम गांजा
दुर्घटना में कोबी ब्रायन की मौत
जबलपुर के मौसम की जानकारी
सात हत्याओं के 15 आरोपियों को भेजा जले