Health / कारोना महामारी में गर्मी का मौसम, रहें सावधान! कहीं फैला लें…

Health / कारोना महामारी में गर्मी का मौसम, रहें सावधान! कहीं फैला लें...

जबलपुर। एक ओर जहां कोरोना वायरस की जंग में एक-एक घर शामिल है, पूरे देश में लॉक डाउन है, ऐसे में गर्मी के मौसम की दस्तक के साथ मौसमी बीमारियां भी दबे पांव आकर नई चुनौतियां खड़ी कर सकती हैं। ऐसे में जरूरी है कि मौसम के अनुकूल घरों पर नियमित व्यायाम के साथ-साथ संयमित आहार करते हुए सेहतमंद रहें।

शहर में इन दिनों सड़कों पर गहरा सन्नाटा है, चारों ओर कर्फ्यू के आलम में सड़क किनारे रहने वाले, बेबस लाचार लोगों को भोजन वितरित किया जा रहा है। इसमें सबसे जरूरी बात का घ्यान यह रखा जाना चाहिए कि जो भी भोजन वितरित हो, उसमें पौष्टिक आहार अधिक हो, गरिष्ठ भोजन बिल्कुल भी न रहे।

इन बीमारियों का मौसम-

अप्रैल माह में आमतौर पर गर्मी के मौसम का पहला चरण शुरू होता है, अचानक सर्द-गर्म के बीच कूलर आदि चालू होने से हाथ-पैर में दर्द, सर्दी-जुखाम की शिकायतें बढ़ती हैं। इसके साथ ही पेट में खराबी, दस्त, उल्टी के मरीज भी बढ़ने लगते हैं। इसके साथ ही मलेरिया, पीलिया के मरीज भी इस मौसम में बढ़ जाते हैं।

क्या करें उपाय-

  • गर्मियों में आने वाले फलों में पानी की मात्रा काफी होती है, इसलिए इनका सेवन जरूर करें।
  • गर्मी में सामान्य खाना जैसे दाल, चावल, सब्जी, रोटी आदि खाना ठीक रहता है। गर्मी में भूख से थोड़ा कम खाना चाहिए। इससे आपका हाजमा भी ठीक रहेगा और फुर्ती भी बनी रहेगी। इसके साथ तली हुई चीजों को ज्यादा न खाएं, यह आपका हाजमा बिगाड़ सकते हैं।
  • गर्मियों में शरीर का अधिकांश पानी पसीने के रूप में वाष्पीकृत हो जाता है। इसलिए दिन में कम से कम 4 लीटर पानी पिएं।
  • गर्मी में नारियल पानी, छाछ और लस्सी पीने से भी जल का संतुलन बनाए रखने में मदद मिलती है। गर्मी के मौसम में तली और मसालेदार चीजें खाने की इच्छा ज्यादा होती है। लेकिन इस मौसम में इन चीजों से बचा जाना ही बेहतर रहेगा।
  • खाने में बहुत ज्यादा नमक भी न लें। नमकीन, मूंगफली, तले हुए पापड़-चिप्स और तेल में तले हुए खाद्य पदार्थ न ही खाएं तो बेहतर होगा।